Yogi-Adityanath

वैश्विक महामारी के दोबारा से बेहद भयानक स्वरूप धारण करने के कारण यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बड़ा निर्णय लेना पड़ा। राजधानी लखनऊ के साथ ही प्रयागराज, वाराणसी व कानपुर के बिगड़ते हालात को देखते हुए यहां पर आज रात यानी गुरुवार (आठ अप्रैल) से एक हफ्ते नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा। 15 अप्रैल तक जारी रहने वाले नाइट कर्फ्यू के दौरान रात नौ बजे से अगले दिन सुबह छह बजे तक तमाम तरह की बंदिश लगाई गई है।

बंगाल दौरे से लौटने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार रात एक उच्च सतरीय बैठक में पांच सौ से अधिक पॉजिटिव केस वाले जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्देश दिया। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जिलाधिकारियों के साथ वार्ता की और प्रदेश का हाल जाना। इसके बाद ने मुख्यमंत्री ने अन्य राज्यों की तरह प्रदेश में भी नाइट कर्फ्यू का कदम उठाया। वर्तमान स्थितियों के अनुसार लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर और नोएडा में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है। यह नाइट रात्रि 9 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा, हालांकि यह अलग-अलग शहरों में अलग-अलग समय तक रहेगा। प्रयागराज में रात्रि 10 बजे से सुबह 8 बजे तक रहेगा। इसी प्रकार कानपुर में रात्रि 9 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा।

देश के साथ प्रदेश में तेजी से पैर पसारते जा रहे कोरोना संक्रमण ने फिर पहले जैसे ही हालात पैदा कर दिए हैं। उत्तर प्रदेश के हालात की समीक्षा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि जिन जिलों में प्रतिदिन सौ से अधिक मामले आ रहे हैं या 500 से अधिक सक्रिय मामले हैं, वहां नाइट कर्फ्यू लगाने और माध्यमिक स्कूल बंद करने पर डीएम-एसपी आपसी समन्वय से फैसला ले सकते हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद गुरुवार से लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज और वाराणसी में नाइट कर्फ्यू सहित कुछ प्रतिबंध लगेंगे।

लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कोविड-19 से लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर आदेश जारी कि राजधानी के शहरी इलाके में आठ अप्रैल से नाइट कर्फ्यू जारी कर दिया है। लखनऊ में 15 अप्रैल तक चिकित्सा, नॄसग एवं पैरामेडिकल संस्थानों को छोड़कर सभी सरकारी, गैर सरकारी अथवा निजी विद्यालय, महाविद्यालय, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। जिन मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थानों में परीक्षाएं और प्रैक्टिकल जहां चल रहे हैं अथवा होने हैं वहां चलते रहेंगे।