जेम्स बॉन्ड का रोल अदा कर चुके दिग्गज अभिनेता शॉन कॉनरी का निधन हो गया. इंग्लैंड की मीडिया ने जानकारी दी कि सीन कॉनरी का 90 साल की उम्र में निधन हो गया. कई दशकों तक उन्होंने फिल्म स्क्रीन पर अपने एक्टिंग के दम पर राज किया. शानदार अभिनय के लिए उनके खाते में ऑस्कर अवार्ड भी शामिल रहा. फिल्म ‘द अनटचेबल्स’ के लिए उन्हें साल 1988 में ऑस्कर से नवाजा गया.

शॉन का जन्म 25 अगस्त 1930 को यूनाइटेड किंगडम में हुआ था. लगभग पांच दशक लंबे अपने करियर में कॉनरी ने हॉलीवुड फिल्म जेम्स बॉन्ड के किरदार में अपनी एक गहरी छाप छोड़ी है. बॉन्ड सीरीज की पहली पांच फिल्मों में वह शीर्षक भूमिका में काम कर चुके हैं.

साल 1962 में सीरीज की पहली फिल्म ‘डॉक्टर नो’ के साथ वह पहली बार बॉन्ड के किरदार में नजर आए थे. इसके बाद ‘फ्रॉम रशिया विद लव’ (1963), ‘गोल्डफिंगर (1964)’, ‘थंडरबॉल’ (1965), ‘यू ओनली लिव ट्वाइस’ (1967), ‘डायमंड्स आर फॉरेवर’ (1971) और ‘नेवर से नेवर अगेन’ (1983) के साथ उनका यह सिलसिला चलता रहा.

अमेरिकन फिल्म इंस्टीट्यूट ने सिनेमा के इतिहास में कॉनरी द्वारा निभाए गए जेम्स बॉन्ड को तीसरे सबसे महान हीरो के तौर पर चुना था. हालांकि बॉन्ड के अलावा भी हॉलीवुड में अपने करियर में उन्होंने दर्शकों को और भी कई सारी बेहतरीन फिल्में दीं, जिनमें ‘द नेम ऑफ द रोज’ (1986), ‘द अनटचेबल्स’ (1987), ‘इंडियाना जोंस एंड द लास्ट क्रूसेड’ (1989), ‘द हंट फॉर रेड अक्टूबर’ (1990), ‘द रशिया हाऊस’ (1990), ‘राइजिंग सन’ (1993), ‘ड्रैगनहार्ट’ (1996), ‘द रॉक’ (1996), ‘इंट्रैपमेंट’ (1998), ‘फाइंडिंग फॉरेस्टर’ (2000) और ‘द लीग ऑफ एक्स्ट्राऑर्डिनरी जेंटलमैन’ (2003) सहित कई शामिल रही हैं.

ब्रायन डी पाल्मा के निर्देशन में बनी फिल्म ‘द अनटचेबल्स’ में कॉनरी द्वारा निभाए गए जिम मालोन के किरदार के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ सह-कलाकार का ऑस्कर भी मिल चुका है. अपने करियर में वह दो बाफ्टा अवॉर्ड और तीन गोल्डन ग्लोब से सम्मानित हो चुके हैं. साल 2000 में होलीरूड पैलेस में कॉनरी को रानी द्वारा नाइट की उपाधि भी दी गई है.

LEAVE A REPLY