pm-kisan-yojna

मोदी सरकार के लिए देश के किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Yojna) किसान योजना  बहुत महत्वाकांक्षी स्कीम है. अब इस प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को लेकर बहुत बड़ी खबर सामने आ रही है. दरअसल अब इस योजना के तहत 32.91 लाख अयोग्य लाभार्थियों के खाते में 2,326 करोड़ रुपए भेजे जा चुके हैं. अब ये पैसा उनको लौटाना पड़ेगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस समय देश में पीएम किसान सम्मान निधि योजना के 11 करोड़ 53 लाख लाभार्थी हैं. हर साल मोदी सरकार इन लाभार्थियों को 6 हजार रुपए 2-2 हजार रुपए की तीन किस्तों में लाभार्थीयों के खातों में सीधे भेजती है. राज्यसभा में ए​क लिखित जवाब में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने संसद में कहा है कि पीएम किसान योजना का लाभ अयोग्य लाभार्थी भी उठा रहे हैं. इनकम टैक्स देने वाले कुछ किसान भी योजना का लाभ ले रहे हैं, इसलिए राज्य सरकारें ऐसे किसानों का पता लगा रही हैं, ताकि उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जा सके.

किसानों से हुई वसूली 
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत कनार्टक में 2,03,819 गलत रजिस्ट्रेशन हुए हैं और इनके खिलाफ FIR दर्ज कर लिया गया है. तमिलनाडु में ऐसे करीब 6 लाख मामले आए हैं और इनमें से 158.57 करोड़ रुपये वापस वसूले भी जा चुके हैं. तमिलनाडु में अब तक 16 एफआईआर दर्ज हुआ है और 100 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी भी हो चुकी है. गुजरात में 7,000 किसानों को इस स्कीम के लिए अयोग्य करार दिया गया है.

पीएम किसान योजना के कौन हैं अयोग्य लाभार्थी

  • कई किसानों को ये मालूम नहीं है कि अगर उनके परिवार में कोई टैक्सपेयर है, तो वह योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं.
  • अगर पति या पत्नी में से किसी ने पिछले साल इनकम टैक्स भारा है, तो उसे इस योजाना का लाभ नहीं मिल सकता है.
    बहुत से किसान दूसरों के खेतों पर किसानी का काम करते हैं, लेकिन खेत के मालिक नहीं होते हैं. ऐसे में उन्हें इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा.
  • अगर खेत उसके पिता या दादा के नाम है, तब भी योजना का लाभ नहीं मिल सकता है.
  • अगर कोई खेती की जमीन का मालिक है, लेकिन वह सरकारी कर्मचारी है या रिटायर हो चुका है या फिर मौजूदा या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री है, तो उसे योजना का लाभ नहीं मिल सकता है.
  • प्रोफेशनल रजिस्टर्ड डॉक्टर, इंजिनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट या इनके परिवार के लोग भी योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं.
  • अगर कोई किसान खेत का मालिक है, लेकिन उसे 10 हजार रुपए महीने से अधिक पेंशन मिल रही है, तो वह इस योजना का लाभार्थी नहीं बन सकता है.

आपको बता दें कि करोड़ों किसान ऐसे भी हैं, जिन्हें अब तक रजिस्ट्रेशन के बावजूद एक भी किस्त नहीं मिली है. अगर आप भी इन किसानों में से एक हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि आपके खाते में योजना का पैसा क्यों नहीं आया है. इसके लिए आप नीचे लिखे गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं.